Website Logo
Home

गुरु पूर्णिमा: गुरु को समर्पित महापर्व

By Editorial Team Last Updated: Jul 03, 2023

गुरु पूर्णिमा हिंदी कैलेंडर के अनुसार शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह पर्व हिन्दू धर्म में अत्यंत महत्वपूर्ण होता है और छात्र-गुरु के संबंध की महिमा को दर्शाता है। गुरु पूर्णिमा के दिन छात्र अपने गुरुओं को आदर और सम्मान प्रदान करते हैं और उनके चरणों में अपना मस्तक झुकाते हैं।

Guru Purnima

गुरु का अर्थ होता है 'उसकी रौशनी में चलने वाला'। गुरु हमें ज्ञान का अनुग्रह करते हैं और हमारे जीवन को रौशनी से भर देते हैं। वे हमारे मार्गदर्शक, सलाहकार और प्रेरक होते हैं जो हमें अच्छे कर्मों के रास्ते पर चलने का मार्ग दिखाते हैं। छात्र गुरु की शरण लेकर उनसे ज्ञान प्राप्त करते हैं और अपने जीवन में सफलता की ओर बढ़ते हैं।

गुरु पूर्णिमा पर हम याद करते हैं कि गुरु एक विशेष शिक्षक की तरह होते हैं जो हमें ज्ञान देते हैं। जब हम गुरु के प्रति सम्मान दिखाते हैं तो हम अंदर से खुश और सफल महसूस करते हैं। गुरु हमें सिर्फ चीजें ही नहीं सिखाते, वे हमें यह भी बताते हैं कि अच्छा कैसे बनें और अपने भीतर को कैसे समझें। वे हमें किसी बड़ी चीज़ से जुड़ाव महसूस करने और हमारे जीवन को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।

गुरु पूर्णिमा पर हमें अपने गुरु को धन्यवाद कहना चाहिए और दिखाना चाहिए कि हम उनकी कद्र करते हैं। उनकी शिक्षाओं का पालन करना और उनकी सलाह माँगना महत्वपूर्ण है। इस दिन, हमें अपना सम्मान दिखाने के लिए कुछ विशेष करना चाहिए और जो कुछ वे हमें सिखाते हैं उसे अपने रोजमर्रा के जीवन में उपयोग करने का वादा करना चाहिए।

गुरु पूर्णिमा एक महापर्व है जो हमें ज्ञान, आदर्श और समृद्धि के साथ जीने की प्रेरणा देता है। हम अपने शिक्षकों को धन्यवाद देकर उनके प्रति सम्मान प्रकट करते हैं और उन्हें दिखाते हैं कि हम उनके मार्गदर्शन को महत्व देते हैं। गुरु पूर्णिमा हमें किसी ऐसे व्यक्ति के महत्व को याद रखने में मदद करती है जो हमें सिखा सके और उसका आदर कर सके।

    Guru Purnima Messages

  • जीवन में दिया जो पहला ज्ञान,
    उन गुरु को मेरा कोटि प्रणाम,
    गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं !!
  • गुरु गोविन्द दोऊ खड़े का के लागूं पायं,
    बलिहारी गुरु आपने जिन गोविन्द दियो बताय,
    गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं!!